Picsart 24 02 09 21 06 11 502 24times News

नई दिल्ली: संसद के आठ सदस्यों को शुक्रवार को बड़ा आश्चर्य हुआ जब वो पीएम मोदी से संसद की कैंटीन में माइलेज. यह लगभग दोपहर के भोजन का समय था, जब उन्हें प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के साथ भोजन के लिए आमंत्रित किया गया था. इस तरह से विभिन्न पार्टियों के आठ सांसद संसद कैंटीन में पीएम मोदी के साथ भोजन के लिए बैठे.

कौन कौन रहा शामिल

दोपहर के भोजन के लिए पीएम मोदी के साथ बीजेपी सांसद हीना गावित, एस.फांगनोन कोन्याक, जामयांग सेरिंग नामग्याल, एल मुरुगन, टीडीपी सांसद राममोहन नायडू, बीएसपी सांसद रितेश पांडे और बीजेडी सांसद सस्मित पात्रा शामिल हुए.

दोपहर करीब ढाई बजे सांसदों का फोन आया कि प्रधानमंत्री उनसे मिलना चाहते हैं. पीएम ने उनसे कहा चलिए आपको एक सजा देनी है. इसके बाद लिफ्ट का दरवाजा खुला तो सांसद हैरान रह गए और उन्हें कैंटीन में ले जाया गया.

यहां तक एक सांसद ने कहा हमें बुलाया गया था और हम ऊपर गए और तब एहसास हुआ कि हम कहाँ जा रहे थे. कैंटीन का दरवाज़ा खुला और हमने पीएम मोदी के साथ लंच किया.

इसी के साथ सांसद ने बताया कि बातचीत के दौरान पीएम मोदी ने बताया कि उनका पसंदीदा खाना खिचड़ी है. उन्होंने कहा मैं हमेशा पीएम मोड में नहीं रहता. मैं बस अच्छा खाना चाहता था.

मीटिंग में हुई ये बात चित

सूत्रों के मुताबिक सांसदों ने पीएम मोदी के साथ बैठकर बातचीत करने का अवसर लिया और उनके बैक-टू-बैक शेड्यूल, व्यस्त विदेशी दौरों, गुजरात और बहुत कुछ के बारे में बात की.

प्रधान मंत्री ने यह भी खुलासा किया कि विशेष सुरक्षा समूह (एसपीजी) द्वारा उनकी यात्रा पर आपत्ति जताए जाने के बावजूद उन्होंने 2015 में अपने तत्कालीन समकक्ष नवाज शरीफ से मिलने के लिए पाकिस्तान का दौरा किया था.

सांसदों ने कहा कि यह एक महान अनुभव था हम सभी प्रश्न पूछ रहे थे, हम एजेंडा निर्धारित कर रहे थे. जब हम कैंटीन पहुंचे, तो हम विजिटर्स लाउंज में थे. हम सभी ने एक-दूसरे की ओर देखा और सोचा कि हम सभी को कैसे बुलाया गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *