Picsart 24 02 09 18 49 34 636 24times News

नई दिल्ली: तौकीर रजा खान ने गुरुवार को ‘जेल भरो’ का आह्वान किया और अपने समर्थकों से राज्य विधानसभा में उनकी काशी, मथुरा टिप्पणी के विरोध में पुलिस को अपनी गिरफ्तारी देने में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का अनुसरण करने को कहा.

उत्तर प्रदेश के बरेली में शुक्रवार को स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई दिखी, क्योंकि इत्तेहाद-ए-मिल्लत काउंसिल के प्रमुख तौकीर रजा खान के हजारों समर्थक ज्ञानवापी मामले पर ‘जेल भरो’ का आह्वान करने के लिए इस्लामी मौलवी को पुलिस द्वारा हिरासत में लिए जाने के बाद सड़कों पर उतर आए है.

पुलिस ने बताया कि शहामत गंज इलाके में पथराव की सूचना मिली, जिसमें एक व्यक्ति घायल हो गया है. गुरुवार को तौकीर रजा खान ने ‘जेल भरो आंदोलन’ का आह्वान किया और अपने समर्थकों से पुलिस को अपनी गिरफ्तारी की पेशकश करने के लिए उनका अनुसरण करने को कहा. जिलाधिकारी ने कहा कि पुलिस मामले की जांच कर रही है और प्राथमिकी दर्ज की जायेगी.

मुस्लिम धर्म गुरु का बयान

तौकीर रजा खान ने विधानसभा में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के उस बयान के विरोध में आह्वान किया है, जिसमें उन्होंने कहा था कि मुसलमानों को स्वेच्छा से वाराणसी में ज्ञानवापी मस्जिद और मथुरा में शाही ईदगाह मस्जिद पर अपना दावा छोड़ देना चाहिए.

जुमे की नमाज के बाद रजा खान के हजारों समर्थक सड़कों पर उतर आए. वीडियो में उन्हें धक्का-मुक्की करते हुए दिखाया गया है.

कानून एवं व्यवस्था बनाए रखने के लिए घटनास्थल पर लगभग 1,000 पुलिसकर्मी तैनात किए गए थे. शहर के सभी महत्वपूर्ण चौराहों और आबादी वाले इलाकों और प्रवेश और निकास मार्गों पर पुलिस की निगरानी रखी जा रही है.

भारी फोर्स तैनात

स्थिति को नियंत्रित करने के लिए छह अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक और 12 सर्कल अधिकारी भी मैदान पर हैं. क्षेत्र में स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है क्योंकि बरेली की सीमा उत्तराखंड से भी लगती है, जहां गुरुवार शाम को Haldwani में सांप्रदायिक झड़पें हुईं.

हल्द्वानी घटना पर बोलते हुए रजा खान ने कहा कि अगर सरकार हिंसा चाहती है तो हम तैयार हैं. हम पुलिस या गोलियों से नहीं डरते. सरकार मदरसे पर बुलडोजर चला रही है. सुप्रीम कोर्ट को संज्ञान लेना चाहिए लेकिन वह काम कर रहा है सरकार के दबाव में आकर.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *