Picsart 24 02 19 08 57 43 522 24times News

नई दिल्ली: दोबारा चुनाव होते ही चंडीगढ़ नगर निगम में आम आदमी पार्टी (आप) के तीन पार्षद रविवार को भाजपा में शामिल हो गए, जिससे मेयर पद के लिए संभावित पुन: चुनाव से पहले भगवा पार्टी को महत्वपूर्ण लाभ मिला.

पार्षद पूनम देवी, नेहा मुसावत और गुरुचरण काला आज दिल्ली में पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव विनोद तावड़े की मौजूदगी में भाजपा में शामिल हो गए. यह घटनाक्रम उसी दिन हुआ जब नवनिर्वाचित मेयर मनोज सोनकर ने चुनाव में धांधली और कदाचार के आरोपों के बाद पद से इस्तीफा दे दिया.

क्यों बदली पार्टी

पाला बदलने पर टिप्पणी करते हुए नेहा मुसावत ने कहा, आप ने हमसे झूठे वादे किए. आज पीएम मोदी के कामों से प्रेरित होकर मैं बीजेपी में शामिल हुई हूं. पूनम देवी ने यह भी कहा कि वह पीएम मोदी द्वारा किए गए कार्यों से प्रेरित होकर भाजपा में शामिल हुईं उन्होंने आप को फर्जी पार्टी भी कहा.

जब ताजा चुनाव होंगे, तो भाजपा अपने 17 पार्षदों, अकाली दल के एक और पदेन सदस्य और चंडीगढ़ की सांसद किरण खेर के एक वोट के समर्थन से नगर निकाय में बहुमत के आंकड़े 19 तक पहुंचने की संभावना है. 35 सदस्यीय सदन में आप के 13 सदस्य थे, अब 10 प्रतिनिधि हैं और कांग्रेस के 7 प्रतिनिधि हैं. आप और कांग्रेस ने 30 जनवरी को हुए मेयर चुनाव के लिए विपक्षी गठबंधन इंडिया ब्लॉक के तहत एक संयुक्त उम्मीदवार खड़ा किया था.

विपक्षी गठबंधन के उम्मीदवार कुलदीप सिंह के 8 वोट अवैध घोषित होने के बाद बेहद संघर्षपूर्ण चुनाव में भाजपा उम्मीदवार मनोज सोनकर को विजेता घोषित किया गया. कांग्रेस और AAP ने चुनाव परिणाम का विरोध किया और सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की. विपक्षी गठबंधन ने यह भी आरोप लगाया कि रिटर्निंग अधिकारी ने मतपत्रों में हेर फेर किया था और यहां तक कि सीसीटीवी फुटेज भी जारी किया था जिसमें कथित तौर पर उसे मतपत्रों के साथ छेड़छाड़ करते हुए दिखाया गया था. बता दें, मामला सोमवार को शीर्ष अदालत में सुनवाई के लिए आने वाला है, सोनकर ने शनिवार को मेयर पद से अपना इस्तीफा सौंप दिया.

इस महीने की शुरुआत में, सुप्रीम कोर्ट ने मेयर चुनाव कराने वाले रिटर्निंग ऑफिसर की आलोचना की थी. यह देखते हुए कि यह स्पष्ट था कि उसने मतपत्रों को विरूपित किया था और उस पर मुकदमा चलाया जाना चाहिए. यह कहते हुए कि उसका कार्य लोकतंत्र की हत्या और उपहास के बराबर है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *